IGRS UP Status Check | Samadhan/Jansunwai complain filling @ jansunwai.up.nic.in

Check IGRS UP status | Samadhan/Jansunwai complain filling @ jansunwai.up.nic.in| IGRS Jansunwai app | UP IGRS उत्तर प्रदेश जनसुनवाई शिकायत दर्ज ऑनलाइन

IGRS UP status 2020: Integrated grievance Redressal System, UP is basically an integrated system for the redressal of grievances of the citizens of the state of Uttar Pradesh. Through this service, people can file complain, track their IGRS up status, give feedback to government. Jansunwai UP status @ jansunwai.up.nic.in can be viewed through process given below.

It was launched in 2016 by the then Chief Minister. It is an online system that facilitates transparency and ensures the accountability of the government departments towards the citizens of the state. IGRS UP complain and track status: Through this portal, public can easily register their complaints and grievances related to any government department through this common online platform. This integrated system is known as Jansunwai portal. People can register their grievances at any time and from any location. They do not have to visit various government departments and offices for raising their complaints and registering grievances.

IGRS-UP-STATUS-CHECK-2019-2020-1

IGRS UP

System Integrated Grievance Redressal System (IGRS), UP
Article category IGRS UP complain filling
UP IGRS status check
Jansunwai UP status
State Uttar Pradesh 
Authority Government of Uttar Pradesh
IGRS portal name  Samadhan/Jansunwai
Official portal http://jansunwai.up.nic.in
जनसुनवाई शिकायत पंजीकरण
IGRS UP Register Grievance
सम्बंधित विभागों से सीधे संपर्क करें
Complain Here
शिकायत की स्थिति
Jansunwai Track Grievance
शिकायत एवं कृत कार्यवाही का विवरण मोबाइल/ ई-मेल के माध्यम से जानें
Track Status
अनुस्मारक भेजें
Send Reminder
नियत समय तक कार्यवाही न होने पर अनुस्मारक भेजें
http://jansunwai.up.nic.in/SendReminder.html

IGRS UP provides a user-friendly interface to the public and departmental officers of the state. They can access the portal in both English or Hindi language as per their convenience.

Register Grievance on IGRSUP (Jansunwai)?

Citizens can register their grievances on IGRS portal by following the easy steps shared below-

  • Step 1- People have to visit the official website of UP IGRS i.e. http://jansunwai.up.nic.in. On opening the website, homepage will appear.
  • Step 2- Click on “Register Grievance” link on the homepage.
IGRS UP
  • Step 3- Now a disclaimer box will appear for online citizens.  They have to read all the points mentioned on it that they cannot register as grievances. After that, they have to click on the “submit” button.
  • Step 4- A registration form will be displayed on the screen. Online citizens have to enter their mobile no. or an email id and have to click on “Submit and Generate OTP” option after entering the captcha code. After submitting the details, a One Time Password (OTP) will be sent to the provided mobile no. or email. They have to enter the OTP on the space provided.
  • Step 5- Now the complaint form will appear. Applicants have to fill Officer details, applicant details, complaints, residential/ correspondence address, and application details.

In case applicants have to filled any application previously they have to upload all the related details in the “Application details” section. Lastly they have to click on “reference safe” option.

After submitting the application, a reference no./ complaint no. will be sent to the applicants on their registered mobile or email no. They can use this no. for further references such tracking the grievance status.

Track Grievance UP IGRS status 2020

Once applicants have registered the complaint/grievance, they can track the status of the complaint online by using the reference no. For that, they have to follow the given steps-

Jansunwai track grievance status
  • Visit http://jansunwai.up.nic.in.
  • Click on “Track Grievance” option.
  • Now applicants have to enter all the required details. These include complaint no., mobile no., email ID, and other details. After they have hit the “submit” button.
  • Application status will be displayed after applicant will click on the “submit” option.

Reminder in Samadhan Portal?

If any applicant feel that their application or complaint is not considered and they did not get ant notification regarding their grievances, then they can send a reminder to the official through the same IGRS portal.

To send reminders they can check the step by step procedure given below-

  • Go the official website.
  • Open the “send reminder” link on the homepage.
  • Now they have to enter the reference no and click on search option.
  • Reminder will be sent and applicants will receive the respective reply from the responsible authority.

IGRS/Jansunwai UP Feedback?

Through this online portal, UP citizens can also send their feedback. For that they have to follow few steps. These include-

  • Visiting the official portal.
  • They need to click on the “Send Feedback” tab.
  • Once they will open the tab, they will get dialog box on the screen. Here they have to fill all the necessary information such as grievance ID, registered mobile no. and ID, satisfaction rating, etc.
  • This is how they can send their feedback about their experience on their online grievance redressal.

Jansunwai App

Along with the online portal, UP government also provides another platform to the citizens for registering their grievances. Citizens can also file their complaints on the mobile application of Samadhan i.e. UP IGRS.

Androids Application is for both the citizens and the officers. Mobile app is aimed to achieve the mobile governance in the state. Through this app, citizens can send their grievances on their mobile and can track the status without visiting the official portal. Similarly, with the help of this mobile application, departmental officers can also check the complaints sent to them.

  • Citizens-

UP public can download this app from play store by visiting the given link. https://play.google.com/store/apps/details?id=in.nic.up.jansunwai.upjansunwai&hl=en

  • Officers-

Departmental officers can also download the Jansunwai mobile application by following the given link-
https://play.google.com/store/apps/details?id=in.nic.up.jansunwai.igrsofficials&hl=en

Important points related to Jansunwai

UP citizens can also have an eye on some of the important points and feature of this online service. These important points are given below-

  • It an easy and transparent interface between citizens and government.
  • Applicants will get a SMS service notification after a registration of complaint, tracking, reminder or sending the feedback.
  • It is compulsory for all the concerned officers to update disposal report on the portal after the disposal action for a grievance.
  •  There will be a nodal officer in every concerned department office who handles the online portal.

FAQs

When was this IGRS UP system started?

It was started in the year 2016. Initially, it was started at district level and then it was implemented on other levels.

What is UP IGRS/ Jansunwai?

It is a public hearing system

What is Reference No?

A reference no. is unique fourteen digits no. issued to the applicants by the online system. It is an important no. and citizens are required to keep it safe.

It is necessary to print all the references?

No

How citizens will receive information from the subordinate office?  

The information will be received only through online mode. No hard copy will be sent from subordinate office.

Whom to contact in case a problem is not resolved?

The description can be sent at [email protected] and [email protected] It is compulsory to specify the contact form, office/contact name in the email.

They can also contact at the
Public Grievances Section-5
Ground floor, Chief Minister’s Office

Facilities that citizens of Uttar Pradesh can avail on Jansunwai portal-

  • Registration of grievances
  • Tracking of Grievances
  • Reminders
  • Giving Feedback

Benefits of IGRS UP

  • It facilitated good governance in the state with the help of informational technology.
  • It is ab easy and user-friendly interface through which citizen register complaints.
  • It is a transparent common interface for all the grievances of the citizens.
  • Citizens are given a single username/password through which they can register problems of various departments through this single portal. They do not have to visit the respective department.

Also read about:
UP Scholarship status
Bhulekh UP

IGRS UP statistics

Following are the statistics i.e. no. of grievances received, disposed and pending at the portal till date-

Particulars Figures
Total grievances received 11256839
Total grievances disposed 10530738
Total grievances pending 726073

If you have any query you can ask us in the comment section below.

33 thoughts on “IGRS UP Status Check | Samadhan/Jansunwai complain filling @ jansunwai.up.nic.in”

  1. पीएम किसान सम्मान निधि योजना में मेरी एक भी किश्त नहीं आई है पहले इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक था नाम बदलकर आर्यावर्त बैंक हो गया इसलिए अकाउंट में पहले 6 जोड़ना होगा और आईएफसी कोड बदलना होगा

    Reply
  2. सेवा में
    श्री मान जिलाधिकारी महोदय, बरेली- उत्तरप्रदेश।
    महोदय,
    निवेदन है कि प्रार्थी ने अपना विधुत ट्यूवेल कनेक्शन अपने पिता श्री प्रेमपाल सिंह पुत्र श्रीजयसिंह के नाम से ग्राम देवकोला में दिनांक-31/01/2018 को कराया था जिसके दो पोल तो विभाग द्वारालगभग छः माह वाद प्राप्त करा दिए लेकिन बाकी सामान एवं ट्रांसफार्मर आज तक प्राप्त नहीं हो सका जिसके लिए प्रार्थी ने विभागीय अधिकारियों व जनसुनवाई पोर्टलपर दिनांक-01/02/2020, संख्या-40015020002970 पर शिकायत की थी जिस पर कोई कार्यवाही नही हुई पुनः प्रारथी ने उपजिलाधिकारी महोदय से भी लिखित निवेदन किया है।
    अतः महोदय से विनम्र निवेदन है कि प्रार्थी का सामान एवं ट्रांसफार्मर दिलाने की क्रपा करें जिससे प्रार्थी अपनी खेती सुचारू रूप से कर सके।
    आपकी महान क्रपा होगी।
    दिनांक-10/02/2020
    प्रार्थी
    मुकेश पुत्र श्री प्रेमपाल सिंह पुत्र श्री जयसिंह
    ग्राम–देवकोला पोस्ट–नूरपुर तहसील- आंवला,
    जिला –बरेली,243301, उत्तर प्रदेश
    मोबाइल नंबर- 9719692556 , 8923481415

    Reply
  3. IGRS पर किसी भी शिकायत के निस्तारण की अधिकतम समय सीमा कितनी है और कितने दिन बाद अनुस्मारक भेजा जा सकता है। धन्यबाद

    Reply
  4. To,
    The Ado officer of block ,
    sahabganj ,dist chakia chandauli. U.P
    Subject – To develop the drain in front of my house

    Respected sir,

    I beg to say that I am putting in vill-Saraiya near ashok flour mill iliya main road. I have already raised the complaint to develop the drain in front of my house since 10 months. but nobody is taking care of my concern. I have already talked to the secretary Mr.Anil .He said due to insufficient balance unable to help .I got the revert from your side also Ado (Sunil ),that after completion of the school development then the drain work will start (KAYAKALP DEVELOPMENT).As I do have a confirmation regarding the school development ,that has already developed (As per the confirmation from my village Pradhan).Then after I contacted to the village sarpanch (Manoj kumar ),He is also saying that without money the drain work will not process. As I have observed that there is no any use of jansunwai complaint. I am really fed-up with the jansunwai portal service. Nobody provide me the resolution .and they guys are just consolation of my complaint that It will definitely work. How do I know that my request has been updated in your development list? Finally, it needs to escalate my concern to the BDO.

    Complaints :(40019619009571,40019619005582,40019619005363,40019619004570,40019619004209,40019619003929,40019619003810,40019619003670,40019619003434)

    Regards
    LAXMI NARAYAN SHARMA S/O JAI PRAKASH SHARMA
    VILL-Saraiya, near Ashok atta mill, iliya main road
    Dist-Chandauli,Block-Sahabganj,Tehsil -Chakia -232103 ,U.P

    Reply
  5. WE HAD MADE A COMPLAINT BUT NOBODY VISITED THE SITE AS GOVERNMENT HAS MADE MADE MARKING AND INSERTED PILLERS IN OUR LAND WE REQUESTED YOU TO INVESTIGATE THE MATTER THROUGH SENIOR OFFICER AND TAKE A STRICT ACTION AGAINST LEKPAL

    Reply
  6. IGRS में कोई लाभ नही मिलता केवल अधिकारियो द्वारा फॉर्मेलिटी पूरी की जाती है और सरकारी रजिस्टर भरे जाते इंटरनेट में फीडिंग की जाती है आखिर में अपना तकमा लूट जाता है कि …जिले से …शिकायतो का सही निस्तारण किया गया और पीड़ित को संतुष्टि प्राप्त हुई
    ऐसे लिखकर अधिकारी मेडल प्राप्त करते है
    1-(सन्दर्भ संख्या 40016419042962 का निस्तारण कर दिया गया है)
    2-(सन्दर्भ संख्या 40016419042950 का निस्तारण कर दिया गया है,निस्तारण आख्या जनसुनवाई पोर्टल/ऐप पर देखी जा सकती है।)
    निस्तारण करने पर न कोई जांच होती है न कोई अधिकारी जाता है और उल्टा पीड़ित को ही परेशान किया जाता है। और झूठी रिपोर्ट भेजी जाती है।

    Reply
    • मुख्यमंत्री महोदय इस पोर्टल से जनता को फायदा नहीं है अधिकारी आपसे अधिक पाबर फुल है इस पोर्टल को बन्द कर देना ही वहातर होगा

      Reply
  7. y portal sirf khanapurti k liye h complain par action lene k bajai jiske khilaf complain h usi se paisa kha k report close kar rahe h yahi hakikat h sarkar badli h par brast riswatkhor adikari nahi

    complain no.60000190107383

    Reply
  8. श्रीमान जी मैं इजहारुद्दीन सविनय निवेदन करता हूँ कि मैं दोनों पर से दिव्यांग हूं ।मेरे पास कोई रोजगार नहीं है।मैं M.A. मास्टर ऑफ आर्ट तक पढ़ाई किया हूं। मैं और मेरी पत्नी एवं बच्चे अत्यधिक दुख के साथ जीवन यापन कर रहे हैं। यहां तक कि दवा के लिए भी पैसा नहीं रहता है। और ना ही मैं अपने बच्चे को शिक्षा दिला पा रहा हूं। क्योंकि मेरे परिवार को दो वक्त की रोटी नहीं मिल पा रही है तो मैं अपने बच्चे को शिक्षा कैसे दिलाऊँ। मैं अपने परिवार की जीविका को कैसे जिलाऊँ। मैं और मेरा परिवार घुट घुट कर जी रहा है। जबकि मैं वैकेंसी का फार्म भी डालता हूं । उसमें भी पैसा चाहिए। मगर मैं किसी तरह पैसे को एकत्रित करके फार्म को ऑनलाइन कराता हूं और उसके बाद यह सोचना पड़ता है की लगभग 300किलोमीटर एग्जाम देने जाने के लिए और किसी को साथ ले जाने के लिए अपना खर्च और सहयोगी का खर्च को भी एकत्रित करना पड़ता है। जबकि मेरा परिवार दो वक्त की रोटी के लिए मोहताज है। मैं किसी तरह अपने परिवार की जीविका को जिलाने के लिए मैं बैंक से ₹50000 रूपये लोन लेकर एक गुमटी खरीदा और उसमें अंडा बेचना शुरू किया। और कुछ लोगों से कर्ज लेकर अपना जीवन यापन करता था उन्हीं 50000 में से उन लोगों को भी वापस दिया जिनसे मैंने कर्ज लेकर अपने परिवार को दो वक्त की रोटी देता था। लेकिन हमारा बिज़नेस दो निम्न कारण की वजह से सारी पूजी टूट गई। वह कारण यह है कि मेरी पत्नी और बच्चे की दवा में और कुछ लोग मुझे दिव्यांग समझ कर शराब पीकर उधार खा कर चले गए और मांगने पर मेरे ऊपर गुस्सा भी करते थे इसीलिए मैंने उधार मांगना भी बंद कर दिया । इस घुटन सी जिंदगी से मैं तंग आ चुका हूं । अभी तक मैंने बैंक का लोन भी नहीं भर पाया हूँ। मेरे पास रहने के लिए घर भी नहीं है। मैं 5 वर्षों से दूसरों के घर में जीवन यापन करता हूं। मुझे प्रधानमंत्री आवास बनाने के लिए तहसीलदार महोदय जी के न्याय और दया पर मुझे एक बिस्सा आवासीय पट्टे की जमीन मिला है। जिसमें मैं आवास बनाकर जीवन यापन कर सकूं। लेकिन मुझे उस जगह जमीन मिला है जहां पर अभी लगभग 15 वर्षो तक छप्पर डालकर भी रहने लायक नहीं है । और इसकी सूचना मैंने कई अधिकारीगण महोदय जी को अवगत कराया हूं लेकिन मेरी कोई सुनवाई नहीं की गई। लेकिन मैंने अपने नसीब को दोषी मानकर शांत हो गया। क्योंकि मुझे एहसास हुआ कि गरीबों की मदद के लिए कोई नहीं है। और अभी तक मुझे प्रधानमंत्री आवास भी नहीं मिला है। जिनके पास घर है खेती बारी है और हर तरह से संपन्न है उन्हीं के नाम कृषि पट्टा किया जा रहा है आवासीय पट्टा किया जा रहा है । जिसके पास कुछ नहीं है उसे दर दर की ठोकर खाना पड़ता है । हमारे ग्राम सभा में मुझसे ज्यादा गरीब लाचार असहाय और अत्यधिक दुखी कोई नहीं है। मैं अत्यधिक दुख के साथ जीवन यापन कर रहा हूं ।मुझे सिर्फ लिखा पढ़ी करने वाला रोजगार संविदा पर दिया जाए जिससे मैं बैंक का लोन भर सकूं और अपने परिवार को दो वक्त की रोटी दे सकूं।क्योंकि रोजगार के सहारे ही हमारा परिवार जीवन यापन कर सकेगा।

    अतः श्रीमान जी से निवेदन है की आप हमारी सहायता करें हमें मानदेय या संविदा पर रोजगार देने की कृपा करें और हमारा बैंक का लोन माफ कराने की कृपा करें आपकी अति कृपा होगी। हो सकता है आप की दया और न्याय से हमारे परिवार का जीवन सवर जाये। आपकी अति कृपा होगी।
    संसार में भगवान और खुदा का दूसरा रूप इंसान ही होते हैं और इंसान ही एक दूसरे की मदद करते हैं । आप श्रीमान जी मुझे भी अपनी औलाद के समान समझकर हमारी दुख भरी दर्द को समझने की कृपा करें । यह सब जो मैं लिख रहा हूं अत्यधिक दुखित के साथ और आंसुओं में भिगोकर अपनी दिल की बात आप श्रीमान जी तक पहुंचा रहा हूं। इसके आगे न्याय करना आप श्रीमान जी के हाथ में है। अतः आपसे निवेदन है हमारी मजबूरी लाचारी पर दया करने की कृपा करें ।और हमें कोई रोजगार मानदेय या संविदा पर देने या दिलाने की कृपा करें आपकी अति कृपा होगी। जिससे मैं अपने परिवार को दो वक्त की रोटी दे सकूंगा और धीरे धीरे बैंक का लोन भर सकूंगा
    आप श्रीमान जी हमारी भले ही मदद ना करें बल्कि हमारी दुख को हमारे फोन नंबर पर पूछने की कृपा जरूर करें आपकी अति कृपा होगी
    हमारा स्थाई पता- ग्राम नेवादा कला ,पोस्ट पैकौली बाजार , तहसील जलालपुर, थाना जैतपुर, ब्लॉक भियाँव, जिला अंबेडकर नगर उत्तर प्रदेश का मूल निवासी हूँ। 9451733371

    Reply
  9. सरकार के प्रयास बहुत अच्छे हैं। लेकिन सरकारी अधिकारियों का रवैया वही है जैसा कि पिछली सरकार में था। वे शिकायतों को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। उदाहरण के लिए : कृपया जिला मथुरा के तहसील मांट गांव सुरीर बिजाऊ बांगर के अंतर्गत खसरा संख्या 533 पर अतिक्रमण देखें। Complaint No : 15145190070975 date 17 July 2019. इस खसरे के बारे में राजस्व विभाग के अभिलेखों में तलब का उल्लेख किया गया है, लेकिन अभी भी समाजवादी पार्टी से संबंधित लोगों ने इस पर कुछ स्थायी संरचनाएं बनाई हैं। ग्राम प्रधान, लखपाल और तहसील के अधिकारी भी इसकी जानकारी रखते हैं। बारिश का पानी और घरों का पानी सड़क पर बर्बाद हो जाता है। यही कारण है कि भू-जल स्तर गहरा और गहरा हो रहा है। तहसीलदार मांट का कहना है कि संबंधित तालाब की खुदाई के बाद स्थायी आधार पर ग्राम प्रधान द्वारा मनरेगा के तहत धनराशि प्राप्त होने पर ही अतिक्रमण हटाया जा सकता है। हम अभी भी पूरी आशा करते हैं कि इस अतिक्रमण को हटाया जाएगा।

    Reply
  10. Sir mane 21/06/2019 ko sikayat ki thi or
    us Par karavahi nhi hui ulta Police ne Mere hi bete ko jail Bhej diya mane Police ne ulta sidhi report bnakr aapko di
    h. Mai chati hu un logo par karavahi ho Aapse nivedan h ki jald Se jald varavahi krne ki kirpa kre complent no.40013819022970 Name neetu Nai basti lalla pura sabun godam meerut

    Reply
    • Bahut log iss ummeed se iss portel pe sikayati application dete hai taki unko kuch nyay mil sake par unki iss ummeed pe Pani fir jata hai jab unko nirasha hath aati hai, police walo ko bhi unki hi bat samjh aati hai jinke pas dene ko rupaye hote hai…

      Reply
  11. PLZ FORWARD MY IGRS NO 20014019004122 TO SIHANI GATE THANA TO KAVI NAGAR THANA AS JURISDICTION OF CRIME IS AT KAVI NAGAR THANA

    Reply
  12. I SUBMITTED IN PERSON TO THE SDM -SASNI MY ANTI BHU MAFIA COMPLAINT FOR SAMPOORNA SAMADHAN WIDE ID NO 300757180000262 ON 20 /03/2018 BEING TAHSIL DIVAS BUT AFTER FAKE,FALSE,MANIPULATED & MISLEADING INQUIRIES, MISS ANJU B.THE SDM SASNI,COULD DISPOSE OF THE CASE BY SAYING THAT THE SOLUTION //SAMPOORNA SAMADHAN OF MY COMPLAINT” IS IMPOSSIBLE AT THE TAHSIL LEVEL” WITHOUT SPECIFYING THE APPROPRIATE LEVEL FOR NATURAL JUSTICE TO ME .. KINDLY SAVE ME FROM THE ABUSE OF JUSTICE ON PRIORITY.I THINK THAT JUSTICE COULD BE SUSTAINED WHEN RESPECTED IS THERE IN U.P. ALSO

    Reply
    • NO RESPONSE TO MY IGRS NO.30075718000262 DT 20 /03 /2018 FROM BOTTOM TO CM OF U.P.WHAT TO DO WHEN THERE IS NO COMPLIANCE TO THE MAINTENANCE OF LAW & ORDER IN U.P ?

      Reply
  13. 3 complaints were made through IGRS portal for seeking refund of excess amount lying with YEA Greater Noida ,after registration of final lease deed. It is absolutely mine. Every time Manager Property used to give stereotype reply as
    कार्यवाही की जा रही है या कभी कार्यवाही गतिमान है ।
    I am surprised who is monitoring the working of Deptt. What is role of Nodal officer?
    40014319016446 dated 16th June 19.
    40014319011217 dated 20th April 19
    40014319009728 dated 3rd April 19

    Reply
  14. The system is ineffective as the officer used to reply in stereotype language. कार्यवाही की जा रही है या कभी कार्यवाही गतिवान है । में भी 3 बार YEA से सम्बंधित शिकायत IGRS पर कर चुका हूं जिसमे मेरे द्वारा दिये अग्रिम राशि को YEA द्वारा वापिस करना है लेकिन मैनेजर प्रॉपर्टी का एक ही रटारटाया जबाब आता है कार्यवाही की जा रही है । नोडल अफसर भी क्या देखता है भगवान मालिक।
    40014319016446 दिनांक 16 जून 19
    40014319011217 दिनांक 20 अप्रैल 19
    40014319009728 दिनांक 3 अप्रैल 19
    पोर्टल अच्छा है लेकिन मोनिटरिंग zero है।

    Reply
  15. अभी तक कोई भी कार्यवाही नहीं की गयी है इतनी ऍप्लिकेशन देने के बाबजूद भी कोई कार्यवाही शुरू नहीं हुयी है
    हम इन ऍप्लिकेशन्स से असंतुष्ट है 1076 पर शिकायत की / परन्तु कोई भी संतुष्टि नहीं मिली

    Reply
      • मुख्यमंत्री पोर्टल में कंप्लेन करने का कोई फायदा नही मिलता है प्रार्थी ने कई बार igrs में कंप्लाइन की पर यह देखने को मिला की अधिकारिय में कंप्लाइन का कोई भय नही है यह जरूर दिखा की अधिकारी सरकार पर भारी है और नही 1076 पर कंप्लेन का भी कोई असर नही है यह जरूर दिखा की पुरानी सरकार और बर्तमान सरकार पर कोई फर्क नही है कंप्ली no 40017219019063

        Reply
  16. यदि उच्चाधिकारी के द्वारा नियमानुसार कार्यवाही करने के आदेश के बाद भी कोई कार्यवाही न होने पर क्या किया जाय ।फीडबैक भी दे चुका हू लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई । जिलाधिकारी से भी लिखित प्रार्थना पत्र दे चुका हू जिसपर उन्होने नियमानुसार कार्यवाही का आदेश दिया है फिर भी कोई कार्यवाही नही हुई क्या करू ।

    Reply
    • portel to acha he magar adhikari galat report nistarn kar diya gaya he submit kar dete he jab ki mke par koi adikari nahi jata sarkar ke pass galt report kar dete he ki samshya ka samadhan kar diya gaya he jab 1076 se kal aati he jab complant kare wale ko pata chalta he fir fir complant karte he fir vahi ki samshya ka samadhan kar diya gaya he shikayat karne wala paresan ho jata he jisne adhikari ko suvidah sulk de kar kam karwaliy un ka kam ho gaya emandar aadmi es sarkar me bhi paresan he please 1076 ki complant ki sahi se jach ki jai

      Reply

Leave a Comment